Movie prime
पूर्व CM त्रिवेंद्र सिंह रावत बोले, Corona Virus एक प्राणी है, उसे भी जीने का अधिकार, ट्रोल्स ने बताया  जोकर 
 
पूर्व CM त्रिवेंद्र सिंह रावत बोले, Corona Virus एक प्राणी है, उसे भी जीने का अधिकार, ट्रोल्स ने बताया जोकर

Corona महामारी ने दुनिया भर में लोगों का जीना मुहाल कर रखा है, उसे उत्तराखंड के पूर्व मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत ने एक प्राणी बताया है। कहा है कि वायरस को भी जीने का अधिकार है। पूर्व सीएम के इस बयान का एक वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है, जिस पर लोगों ने उन्हें ट्रोल भी किया है।

वीडियो में रावत मास्क में स्थानीय न्यूज चैनल के न्यूज से बातचीत करते नजर आ रहे थे। उन्होंने बताया,  वो वायरस भी एक प्राणी है। हम भी एक प्राणी हैं। हम खुद को बुद्धिमान समझते हैं। मानते हैं कि हम ही सबसे अधिक बुद्धिमान हैं। लेकिन वह प्राणी भी जीना चाहता है और उसे भी जीने का अधिकार है। हम उसके पीछे लगे हुए हैं, जबकि वह अपने बचने के लिए अपना रूप बदल ले रहा है। वह अब बहुरूपिया हो गया है।

इसी बीच, उत्तराखंड कांग्रेस उपाध्यक्ष सूर्यकांत धस्माना ने कहा- वायरस एक जीवित जीव है, जैसे रावण, कंस और महिषासुर थे। पर वे अलग-अलग देवताओं द्वारा मारे गए, क्योंकि वे इस वायरस की तरह दुनिया को नष्ट कर रहे थे जिसने लाखों लोगों को मार डाला.रावत सिर्फ बकवास कर रहे हैं। वहीं, फेसबुक से लेकर टि्वटर पर लोगों ने रावत के इस बयान से जुड़े वीडियो को शेयर किया और अपनी-अपनी प्रतिक्रियाएं दीं। 

@RKdelhi1963 ने कहा- हैरत होती है कि यह व्यक्ति अभी भी पार्टी (बीजेपी) में है। अकेले छोड़ दिए गए पूर्व सीएम को मदद की जरूरत है। ऐसे लोग देश और देशवासियों के लिए तबाही हैं। इनके जैसे और भी हैं। ऐसे लोगों के कारण ही जनता को भुगतना पड़ता है।


@EdwinNazareth ने कहा, मिस्टर रावत, क्या आप भारत के संदर्भ में मौजूदा समय में की जाने वाली टिप्पणियां पढ़ेंगे?

@jhamk2 के हैंडल से लिखा गया- हमारे पास ऐसे क्रिएटिव राजनीतिक जोकर हैं, जो वैज्ञानिक स्वभाव के बारे में बात करते हैं। यह क्लाउड थ्योरी के विश्लेषण करने वाले को कड़ी टक्कर देते हैं। एक अन्य यूजर ने तंज कसते हुए लिखा,  इस वायरस प्राणी को सेंट्रल विस्टा के तहत शरण दी जानी चाहिए।


वैसे, यह कोई पहला मौका नहीं है, जब रावत अपने अटपटे बयान की वजह से सुर्खियों में आए हों। उन्होंने इससे पहले कहा था कि गाय ही इकलौती पशु है, जो ऑक्सीजन को लेती और छोड़ती है। उनके इस बयान पर भी खूब विवाद हुआ था।

आपको बता दें कि सूबे में गुरुवार को कोरोना संक्रमण के 7127 नए मामले सामने आये, जबकि 122 अन्य मरीजों की महामारी से मौत हो गई। स्वास्थ्य विभाग के बुलेटिन में बताया गया कि ताजा मामलों को मिलाकर अब तक प्रदेश में कोरोना वायरस संक्रमितों की संख्या 271810 हो चुकी है।

आगे जानकारी दी गई कि नए मामलों में सर्वाधिक 2094 कोविड मरीज देहरादून जिले में मिले जबकि हरिदवार में 1354, उधमसिंह नगर में 691, नैनीताल में 587, टिहरी गढवाल में 508, पौड़ी में 361, उत्तरकाशी में 317 और रूद्रप्रयाग में 304 नए मरीज सामने आए। ताजा मौतों को मिलाकर प्रदेश में अब तक कुल 4245 कोरोना संक्रमित अपनी जान गंवा चुके हैं। प्रदेश में उपचाराधीन मामलों की संख्या 78304 हैं जबकि 184207 मरीज अब तक स्वस्थ हो चुके हैं। ",