Notifications
×
Subscribe
Unsubscribe
Hindi Khabrein

गोरखनाथ मंदिर के करीबी योगाचार्य निकले ठग, सीएम योगी की सख्ती के बाद एक्शन में आयी पुलिस

गोरखपुर। भ्रष्टाचार के मामलों को लेकर सीएम योगी आदित्यनाथ की जीरो टॉलरेंस की नीति एक बार फिर सामने आई है। गोरखनाथ मंदिर के करीबी योगाचार्य भाईयों पर असिस्टेंट प्रोफेसर के नाम पर 5 लाख वसूली की शिकायत मिलते ही सीएम ने मुकदमा दर्ज करने का आदेश दिया। पुलिस ने दोनों योगाचार्य भाईयों चंद्रजीत यादव एवं राजशेखर यादव के खिलाफ गोरखनाथ थाने में आईपीसी की धारा 406, 420, 504 और 506 में एफआईआर दर्ज कर लिया है। पुलिस दोनों की गिरफ्तारी को लेकर छापेमारी कर रही है। 

जिन दो योगाचार्य भाईयों पर मुकदमा दर्ज हुआ है, उनका परिचय सुन हर कोई चैंक रहा है। आरोपी राजशेखर यादव दीनदयाल उपाध्याय गोरखपुर विश्वविद्यालय के दर्शन शास्त्र विभाग में मानदेय शिक्षक है। जबकि उसका छोटा भाई योगाचार्य चंद्रजीत यादव, महायोगी गुरु गोरक्षनाथ योग संस्थान में मानदेय पर योगाचार्य है। बताया जाता है कि दोनों भाईयों के खिलाफ काफी शिकायतें हैं। अभी तक कोई सीएम तक शिकायत की हिम्मत नहीं जुटा पा रहा था। एक मामला उजागर होने के बाद कुछ और शिकायतकर्ता भी सामने आ सकते हैं। फिलहाल दोनों भाईयों पर एफआईआर दर्ज होने के बाद दोनों भाई जिन संस्थाओं में सेवाएं दे रहे थे, वहां से भी उन पर जल्द गाज गिर सकती है। 
 
अनीता शनिवार की सुबह डॉ.अनीता अपने पति वरूण जी चैरसिया के साथ जनता दर्शन में मिलने आई थी। लेकिन मुख्यमंत्री से मुलाकात नहीं हो सकी। कोविड संक्रमण के कारण मंदिर परिसर पुलिस चैकी में ही सीएम के निर्देश पर सभी की शिकायतें ली जा रही थीं। डॉ अनीता अपनी शिकायत लेकर गोरखनाथ चैकी पर पहुंची। जहां एसआई अजय सिंह ने उनकी शिकायत को सीएम योगी तक पहुंचा दिया। इस पर सीएम ने तत्काल आरोपियों पर एफआईआर दर्ज करने के कड़े निर्देश दिए। एसएचओ गोरखनाथ रामाज्ञा सिंह ने 937 बजे ही एफआईआर दर्ज कर एसआई नीतिन श्रीवास्तव को जांच सौंप दी है। 

असिस्टेंट प्रोफेसर पद के लिए दिया पांच लाख नथमलपुर गोरखनाथ उत्तरी निवासी डॉ अनीता चैरसिया पत्नी वरुण जी चैरसिया ने सिद्धार्थ विश्वविद्यालय कपिलवस्तु सिद्धार्थनगर में अंग्रेजी विषय की असिस्टेंट प्रोफेसर पद आवेदन किया था। विश्वविद्यालय प्रबंधन ने एक फरवरी को अभ्यर्थियों के साक्षात्कार की तिथि नियत किया था। गोरखनाथ मंदिर में योगाभ्यास के लिए हर दिन सुबह जाने के क्रम में योगाचार्य चन्द्रजीत यादव पुत्र स्वर्गीय रामकृष्ण यादव निवासी जटेपुर उत्तरी थाना गोरखनाथ गोरखपुर से बातचीत हुई। पूछने पर असिस्टेन्ट प्रोफेसर पद के साक्षात्कार के सम्बन्ध में बताया। 

चन्द्रजीत यादव ने स्वयं के मुख्यमंत्री आवास में रसूख का हवाला दिया। उसने बताया कि बड़े भाई योगाचार्य राजशेखर यादव का सिद्धार्थ विश्वविद्यालय कपिलवस्तु सिद्धार्थनगर में अच्छी पकड़ है। 8 फरवरी को इलाहाबाद बैक ( इण्डियन बैंक ) शाखा गोरखनाथ से अपने पति वरूण जी चैरसिया के खाते से 5 लाख रुपये निकाल कर योगाचार्य भाईयों को दे दिया। चयन नहीं होने पर रकम वापसी की बात पर दोनों भाई अभद्र टिप्पड़ी करने लगे। जिसके बाद मामला बिगड़ गया। 

Back to top button