Movie prime
भारतीय शिक्षा प्रणाली की दशा दर्शाएगी फिल्म ओह माय गॉड 2?
 
d

जब से फिल्म ओह माय गॉड के सीच्ल ओह माय गॉड 2 का ऐलान हुआ है, आए दिन इससे जुड़ी नई जानकारी सामने आ रही है। बीते दिन ही खबर आई थी कि ओह माय गॉड 2 की शूटिंग शुरू हो गई है। अब बताया जा रहा है कि इस बार फिल्म की कहानी धर्म पर केंद्रित नहीं होगी, बल्कि भारतीय शिक्षा प्रणाली के इर्द-गिर्द घूमेगी।


रिपोर्ट के मुताबिक, ओह माय गॉड 2 भारतीय शिक्षा प्रणाली पर आधारित है। इसमें पंकज त्रिपाठी मुख्य हीरो की भूमिका निभाते दिखेंगे, जैसे पिछली फिल्म में परेश रावल को देखा गया था। फिल्म की कहानी को इस तरह से तैयार किया गया है कि अक्षय के किरदार की एंट्री खुद ब खुद इसमें हो जाती है और दोनों किरदारों को एक-दूसरे से मिला देती है। फिल्म के जरिए देश की मौजूदा शिक्षा प्रणाली पर प्रकाश डाला जाएगा।


पंकज त्रिपाठी ने 1 सितंबर से मुंबई में ओह माय गॉड 2 की शूटिंग शुरू कर दी है। सीच्ल में उन्होंने परेश रावल की जगह ली है। अगले कुछ दिनों तक वह अकेले फिल्म के कुछ हिस्से की शूटिंग करेंगे। इसके बाद यामी गौतम शूटिंग के लिए टीम के साथ जुड़ेंगी, वहीं, अक्षय अक्टूबर में शूटिंग शुरू करेंगे। उन्होंने ओह माय गॉड 2 में अपने किरदार भगवान श्रीकृष्ण की शूटिंग के लिए 15 से 20 दिन निर्माताओं को दिए हैं।


2012 में रिलीज हुई ओह माय गॉड एक गुजराती नाटक पर आधारित है, जिसका नाम है कांजी वर्सेस कांजी। यह अंग्रेजी फिल्म द मैन हू स्यूड गॉड से भी प्रेरित थी। यह एक गुजराती व्यवसायी की कहानी है, जो नास्तिक होता है। कहानी में ट्विस्ट तब आता है, जब वह भगवान के अस्तित्व को साबित करने के लिए दरबार में जाता है। फिल्म ने इस बात पर प्रकाश डाला कि धर्म, जाति और अन्य भेदभाव इंसान ने ही बनाए हैं।


इस फिल्म में धर्म को लेकर कई डायलॉग पर विवाद उठा था, जिसके बाद अक्षय और परेश के खिलाफ केस हुआ। अक्षय को तो पुलिस सुरक्षा तक देनी पड़ गई थी। शाहरुख खान भी इस फिल्म में मेहमान भूमिका निभाने वाले थे, लेकिन फिर शाहरुख ने इनकार कर दिया। शायद शाहरुख भी फिल्म की स्क्रिप्ट देखकर भांप गए थे कि धर्म को लेकर जो बखेड़ा इस फिल्म में खड़ा किया गया, वो उन पर भारी पड़ सकता है।