Bollywood

राज मुंबई के एक बंगले का, जिसमें एंट्री करने वाला हर कलाकार बन गया ‘सुपरस्टार’

हर दिन मुंबई में लोग अपनी किस्मत आजमाने के लिए पहुंचते हैं. वहीं इस माया नगरी में बहुत से ऐसे किस्से हैं जिनके बारे में कम ही लोगों को जानकारी होती है. हर कलाकार चाहता है कि वह अपने करियर में ऊंचा नाम हासिल करे और हमेशा फैंस के दिलों पर राज करते रहें. इसके लिए वह क्या कुछ नहीं करते. ऐसे में सितारे अंधविश्वास को मानने लगते हैं. ऐसा ही एक दिलचस्प किस्सा मुंबई के ‘भूत बंगले’ का है, जिसने 2 सितारों को सुपरस्टार बना दिया.

दरअसल, यहां हम बात कर रहे हैं मुंबई के कार्टर रोड पर स्थित एक खूबसूरत बंगले की. जिसमें रहकर राजेश खन्ना (Rajesh Khanna) और राजेंद्र कुमार (Rajendra Kumar) की किस्मत ही बदल गई. ये दोनों सितारे अपने इस बंगले को बेहद प्यार भी करते थे. कहा जाता है कि एक वक्त पर जिस घर को ‘भूत बंगला’ कहा जाता था वही इन दोनों के लिए लक्की साबित हुआ.

सालों पुरानी बात है कि जब कार्टर रोड पर स्थित इस बंगले को वहां के लोग ‘भूत बंगला’ कहा करते थे. इसका मालिक इसे कम कीमत पर बेचने के लिए भी तैयार था. उसी दौरान राजेंद्र कुमार अपने परिवार के लिए एक अच्छे घर की तलाश कर रहे थे. तभी उन्हें इस घर के बारे में पता चला और उन्होंने इसे सिर्फ 60 हजार रुपये में खरीद लिया.

राजेंद्र कुमार ने इस घर को अपनी बेटी ‘डिंपल’ का नाम दिया. इस बंगले में आते ही जैसे राजेंद्र कुमार किस्मत बदल गई, जो अभिनेता कुछ साल पहले स्ट्रगल कर रहा था, अचानक उसकी फिल्में हिट होने लगी.

60-70 का दशक ऐसा था ऐसा जब हर तरफ राजेंद्र कुमार की तूती बोलती थी. उनकी फिल्में 25 हफ्तों तक सिनेमाघरों में टिकी रहती थीं, जो अपने आप में बड़ी बात होती थी.इस सफलता के पीछे जहां एक ओर राजेंद्र कुमार की मेहनत छिपी हुई थी, वहीं कहते हीं कि यह बंगला भी उनके लिए लक्की रहा. इसके बाद उन्होंने एक से एक सफल फिल्में दीं. उन्हें इंडस्ट्री इंडस्ट्री का ‘जुबली कुमार’ कहा जाने लगा. वह बॉलीवुड के सबसे अमीर सुपरस्टार बन गए थे. उनके स्टारडम के साथ-साथ उनके इस बंगले की भी इंडस्ट्री में खूब चर्चा होने लगी.

कुछ समय बाद इंडस्ट्री राजेश खन्ना की एंट्री हुईं. उन्होंने राजेंद्र कुमार के सामने इस बंगले को खरीदने की इच्छा जाहिर की. जैसे-तैसे उन्होंने राजेंद्र कुमार ने इस बंगले को बेचने के लिए मना लिया. हालांकि, अभिनेता ने यहां राजेश खन्ना के सामने शर्त रखी कि उन्हें बंगले का नाम बदलना होगा, जिसके लिए वह तुरंत राजी हो गए.उन्होंने सिर्फ साढ़े 3 लाख रुपये में इस घर को खरीद लिया. उन्होंने इसका नाम ‘आशीर्वाद’ रखा.

बेशक लोगों ने अंधविश्वास में आकर इस घर को भूत बंगला कहा हो, लेकिन इसने वाकई सितारों की किस्मत पलट दी. राजेंद्र कुमार के बाद राजेश खन्ना जब इस घर में शिफ्ट हुए तो उनके सितारे भी बुलंदियों पर आ गए. उन्होंने कई सुपरहिट फिल्में साइन की और उनका स्टारडम चरम पर जा पहुंचा.

वहीं दूसरी ओर इस घर से निकलने कुछ समय बाद ही राजेंद्र कुमार की हालत खस्ता होने लगी. बंगला बेचने की वजह से उनका परिवार भी उनसे बहुत नाराज था. राजेश खन्ना ने इस बंगले के पैसे भी किस्तों में चुकाए थे.2012 में राजेश खन्ना के निधन के बाद उनके परिवार से इस घर को 90 करोड़ रुपये में ऑल कार्गो लॉजिस्टिक्स के चेयरमैन शशि किरण शेट्टी को बेच दिया था.

Back to top button